परिचय – बागेश्वर धाम

पूज्य महाराज श्री बागेश्वर धाम सरकार के आगामी कार्यक्रम

  • श्रीहनुमंत कथा: 20 नवंबर से 22 नवम्बर 2023 स्थान :- पुणे, लाइव कथा:-संस्कार चैनल एवं बागेश्वर धाम सरकार यूट्यूब चैनल,
  • श्रीहनुमंत कथा: 26 से 30 नवम्बर 2023 स्थान :- गांधीधाम, गुजरात, लाइव कथा:-संस्कार चैनल एवं बागेश्वर धाम सरकार यूट्यूब चैनल,
Bageshwar dham
परिचय – बागेश्वर धाम

करीब 300 साल पहले जिस मानव कल्याण और जनसेवा की परंपरा को सन्यासी बाबा ने शुरु किया था, अब इसी परंपरा को और आगे बढ़ा रहे हैं बालाजी महाराज के कृपा पात्र, श्री दादा गुरुजी महाराज के उत्तराधिकारी पूज्य धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री, जिसे पूरी दुनिया बागेश्वर धाम सरकार के नाम से संबोधत करती है। भक्तों का कष्ट हरने भगवान खुद इस धरती पर नहीं विराजते बल्कि अपने किसी दूत को भेजते हैं। बागेश्वर धाम सरकार, बालाजी के वो भक्त हैं जिनपर उनकी असीम कृपा है। यहां जो भी बालाजी महाराज की शरण में अपनी मनोकामना लेकर आता है, बालाजी महाराज अपने परम भक्त बागेश्वर धाम सरकार के माध्यम से उसे पूर्ण करवाते हैं।#Bageshwar Dham Age

पूज्य गुरुदेव के संकल्प

जो अपने लिए ना जी कर दूसरों के लिए जीएं, अपना पूरा समय मानवता की सेवा और सनातन धर्म के उत्थान के लिए दें, ऐसे महापुरुष का हमारी इस पावन धरती पर होना गर्व की बात है। पूज्य गुरुदेव के संकल्पों ने मानव कल्याण की परिभाषा को एक नया आयाम दिया है। ना जाति, ना धर्म और ना समुदाय…बिना किसी भेदभाव के जो मानव सेवा को भी अपना धर्म समझे ऐसे संत को नमन। आइए इस संकल्पों के बारे में जानते हैं।

bageshwardhamji

बागेश्वर धाम महाराज धीरेंद्र शास्त्री का जीवन परिचय

बागेश्वर बालाजी धाम (Bageshwar Dham Sarkar) महाराज श्री धीरेंद्र शास्त्री जी के जीवन परिचय के बारे में, जेसा कि आप सभी को पता ही होगा की इस समय बागेश्वर धाम सरकार काफी ज्यादा चर्चा में है. Bageshwar Dham के महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री जी को हनुमान जी अवतार माना जा रहा है।

मौजूदा दौर में लोगों के प्रति बागेश्वर धाम को लेकर श्रद्धा बढ़ती ही जा रही है. बहोत से लोगों का तो ये मानना है कि वे एक चमत्कारी महाराज है इसलिये आज हर एक व्यक्ति उनके निजी जीवन और हर तरह के सभी पहलुओ के बारे मे जानना चाहता है. बागेश्वर धाम बालाजी सरकार के पीठाधीश्वर पंडित Dheerendra Krashna Shastri जी की जीवनी, Dhirendra Krishna Shastri Biography In Hindi, बाला जी सरकार के बारे में कुछ इंट्रस्टिंग फैक्ट आदि उनके बारे में पूरी जानकारी इस लेख मे बताया गया है।

धीरेंद्र कृष्ण कुमार शास्त्री आज भारत मे ही बल्कि देश विदेशों मे भी बहुत तेजी से आगे बढ़ रहे हैं और अपना नाम कमा रहे है, तेजी के साथ नाम कमाने वाले एवं सनातन के धर्म को आगे बढ़ाने वाले Dheerendra Krashna Shastri मध्यप्रदेश के छत्तरपुर जिले में बागेश्वर धाम के नाम से प्रसिद्ध पण्डित सन्यासी बाबा हर दिन किसी न किसी वीडियो के रूप मे सोशल मीडिया पर वायरल होते रहते हैं।

ये अपने प्रसिद्ध स्थान बागेश्वर मे उनके द्वारा लगाया जने वाला दिव्य दरवार की वजह से बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हैं इसके लिये वे बहोत ज्यादा प्रसिद्धि हासिल कर चुके हैं और आगे करते रहेंगे। तो आज हर कोई इनके बारे में विस्तार से जानना चाहता है इसीलिये हमने सोचा क्योंना आप सभी को इनके जीवन परिचय से अवगत कराया जाए. हम इस article मे धीरेंद्र कृष्ण कुमार शास्त्री के निजी जीवन और उनसे जुड़े सभी छोटे बड़े इंट्रस्टिंग पहलुओ के बारे में विस्तार से जानेगे।

श्री धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री का जीवन परिचय 

श्री बागेश्वर धाम सरकार धीरेन्द्र कुमार शास्त्री जी का जीवन परिचय बहुत ही दिलचस्प है, उन्होंने बचपन से ही बहुत सी परेशानियों का सामना किया है. उनके जीवन में एक समय ऐसा भी आया की उनको दो वक्त का खाना भी नहीं जुझा लेकिन फिर भी उन्होंने अपने जीवन में हार नही मानी और बालाजी भगवन के ऊपर विश्वास रखे रहे उनकी भक्ति करते रहे जिससे उनके जीवन एक दिन ऐसा आया जब स्वयं बाला जी ने उनके ऊपर ऐसा आर्शीवाद दिया जिससे अब वे पूरे देश में ही नही बल्कि विदेशो में भी धूम मचा रहे हैं।

बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर का पूरा नामपंडित महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री
उनके गुरुसेतु महाराज हैं
जन्म दिवस04 जुलाई सन 1996
जन्म स्थानग्राम गढ़ा जिला छतरपुर मध्य प्रदेश (भारत)
विवाहअभी ये अविवाहित
धीरेन्द्र शास्त्री जी का लक्ष्यमानव जग का कल्याण
धीरेंद्र शास्त्री का परिवारउनके परिवार में कुल 5 लोग है – माता – पिता और एक भाई, एक बहन
धीरेन्द्र शास्त्री के माता – पिता पिता रामकृपाल गर्ग, माता सरोज गर्ग
बागेश्वर धाम सरकार मंदिरश्री हनुमान जी (बालाजी)

अगर हम इनके जन्म दिवस की बात करे तो इनका जन्म 4 जुलाई सन 1996 को मध्यप्रदेश के छत्तरपुर जिले के एक छोटे से गांव गड़ा मे हुआ था। वहीं अगर हम उनकी शिक्षा की बात करे तो उन्होंने सिर्फ 8वीं तक ही पढ़ाई की है। कक्षा 8वीं तक उन्होंने अपनी पढाई ग्राम गडा से ही की

पंडित धीरेन्द्र कुमार शास्त्री का मन मे न लगकर उनको संत सन्यासी बाबाओं मे ज्यादा रूचि रहती थी. इसलिये उन्होने अपने परम पूज्यनीय सन्यासी महाराज जो पहले बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर हुआ किया करते थे. धीरेन्द्र शास्त्री ने उन्ही से शास्त्रो एवं कथाओं का ज्ञान प्राप्त किया। कहा जाता है कि धीरेन्द्र शास्त्री मित्रता के लिये एकदम खुले दिल के थे इसलिए उनकी मित्रता के बारे में आज बहुत सी रोचक इंट्रस्टिंग कहानियां सुनने में मिलती है। आइये उनकी मित्रता के बारे में जनते हैं।

जहाँ एक तरफ Dheerendra Krashna Kumar Shastri हिन्दू धर्म के प्रसिद्ध कथा वाचक व अपने धर्म के प्रचारक है वहीं उनके एक मित्र मुश्लिम धर्म से ताल्लुक रखते हैं। साथियो बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर महाराज धीरेन्द्र कुमार शास्त्री के जीवन में एक समय ऐसा भी आया जब उनको अपनी बहिन का विवाह करना था लेकिन उनके पास बहिन की शादी करने के लिये पैसे नही थे।

तो जब इस बात का पता उनके मित्र जो मुश्लिम धर्म से सम्बन्ध रखते हैं उनको पता चली तो उनने पंडित धीरेंद्र कृष्ण की मदत करी. इससे पता चलता है कि धीरेंद्र शास्त्री और उनके मित्र जो अलग समुदाय से सम्बन्ध रखते हैं उनसे उनकी मित्रता कितनी गहरी व अटूट थी और है। बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर अपनी कथाओं मे कभी कभी अपनी इस मित्रता के अटूट बंधन के बारे में सुनाया करते हैं।

हालांकि आपके मन मे एक सवाल जरूर आ रहा होगा कि उनके मित्र का नाम क्या था तो आपको बता दे कि उनके मित्र जो मुश्लिम समुदाय से संबंध रखते हैं उनका नाम शेख मुबारक है. धीरेन्द्र शास्त्री ने अपनी एक कथा मे बताया था की उनने अपने दोस्त शेख मुबारक से 20 हजार रुपए उधार के रूप मे लिये थे, जब धीरेन्द्र ने अपने मित्र से पैसे उधार लिये थे तब उनके पास पैसों की बहोत ज्यादा कमी थी।

शेख मुबारक की मदद की बदौलत उन्होंने अपनी बहिन का विवाह बहुत ही धूम धाम के साथ किया था। धीरेन्द्र कुमार शास्त्री और शेख मुबारक की मित्रता आज लोगों को बहोत ज्यादा पसंद आ रही है, अधिकतर लोग उन दोनों की मित्रता से प्रेरित भी हो रहे हैं। दोस्तों यह था पंडित महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री जी का जीवन परिचय अब हम आगे उनके निजी जीवन के बारे में जानेंगे तो चलिये आगे बढ़ते हैं।

धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री कोन है? 

मध्यप्रदेश के छत्तरपुर जिले के एक छोटे से गडा नामक गांव मे 4 जुलाई सन 1996 को जन्मे बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर पंडित श्री धीरेन्द्र कृष्णा कुमार शास्त्री इनके पिता जी एक गरीब ब्राह्मण थे जिनका नाम रामकृपाल गर्ग और उनकी माता जी का नाम सरोज गर्ग है। धीरेन्द्र ने अपना पूरा बचपन अपने गांव गडा में ही बिताया है।

इन्होने अपने जीबन मे सबसे पहले अपने दादा जी से सीखा इनके दादा जी का नाम श्री भगवानदास है इन्होने ही धीरेन्द्र शास्त्री को रामायण एवं भगवत गीता का ज्ञान सिखाया। हालांकि धीरेन्द्र शास्त्री जी का परिवार बहोत ही गरीब था लेकिन धीरेन्द्र सास्त्री वृन्दावन मे जाके कर्मकांड पड़ना चाह रहे थे परन्तु उनके पास वृन्दावन जाने के पैसे भी नही थे जिस वजह से वे फिर वृन्दावन नही जा पाये।

और फिर धीरेन्द्र सास्त्री ने बजरंग बली श्री हनुमान जी के मंदिर मे बैठ के उनकी प्राथना की है जिससे बजरंग बली ने उनके ऊपर अपना हाथ रख दिया और आज वे Bageshwar Dham मे पीठाधीश्वर महाराज पुजारी बन गये। बागेश्वर धाम मे महाराज धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री जी के द्वारा बालाजी का बहुत बड़ा दिव्य दरवार लगाया जाता है जहाँ धीरेन्द्र कृष्णा प्रवचन करते हैं जिसे सुनने के लिये काफी दूर दूर से भारी संख्या मे श्रद्धालु आते रहते हैं।

बागेश्वर धाम पर लोग हजारो किलोमीटर दूर से महाराज के प्रवचन सुनने के लिये और अपनी समस्या का निवारण पाने के लिये आते हैं. यही कारण है कि धीरेन्द्र शास्त्री इतने ज्यादा चर्चा में और काफी ज्यादा लोकप्रिय हो चुके हैं, Dheerendra Shastri को बागेश्वर पीठधीश्वर महाराज एवं बालाजी महाराज के नाम से भी जानते है।

बागेश्वर धाम के बारे में 

धाम का नामबागेश्वर धाम सरकार मंदिर (बालाजी)
बागेश्वर धाम के पुजारीमहाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री
बागेश्वर धाम सरकार का एड्रेसगडा गंज, छत्तरपुर जिला, मध्यप्रदेश भारत (471125)
बागेश्वर धाम सरकार का हेल्पलाइन संपर्क+918120592371

मध्यप्रदेश राज्य के छतरपुर जिला मे गड़ा नाम का एक छोटा सा गांव है उसी के पास एक बागेश्वर धम सरकार का तीर्थ स्थल मौजूद है जहाँ पर हनुमान जी (बालाजी) का प्रसिद्ध मंदिर है इसी मंदिर के आस-पास धीरेंद्र कृष्ण कुमार शास्त्री जी के दादा जी और उनके गुरुजी की समाधि स्थल है जहां पर लोग मंगलवार के दिन को आकर के अर्जी लगाते हैं।

आप सभी को बता दे कि मंगलवार के अलावा अन्य किसी भी दिन बागेश्वर धाम मे अर्जी नही लगायी जाती है क्योंकि आप ये बात अच्छे से जानते होंगे कि मगंलवार के दिन को ही बालाजी का दिन माना जाता है।

यदि आप वहां पर जाकर के अर्जी लगाते हैं तो उसके लिये आपको एक नारियल को लाल कपडे मे लेकर बांधना होता है. इस नारियल के फल को अपनी मनोकामना पूरी होने के लिये वहां पे बांधा जाता है। नारियल के फल को बाधंने के बाद आपको मन्दिर की 21 बार परिक्रमा करनी होती है।

श्रद्धालुओं का मानना है की बागेश्वर धाम सरकार मे लगायी गयी अर्जी कभी भी असफल नही हो सकती है, इस स्थान पर अर्जी लगाने के लिये बहोत से लोग दूर दूर से आते हैं बागेश्वर धाम सरकार मे महाराज धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री के द्वारा बहुत बड़ा भव्य दरवार लगाया जाता है यहाँ पे पंडित धीरेंद्र शास्त्री प्रवचन करते हैं और इसके अलावा लोगों की परेशानियों व समस्याओं का समाधान देते हैं।

पंडित धीरेन्द्र शास्त्री का व्यक्तिगत परिचय 

नामपण्डित श्री धीरेन्द्र कुमार शास्त्री, बागेश्वर धाम महाराज
उपनामबगेश्वर धाम सरकार महाराज
प्रचलित नामबागेश्वर धाम वाले बाबा, बालाजी जी भक्त महाराज, सन्यासी बाबा
जन्म दिनांक4 जुलाई सन 1996
जन्म दिवस स्थानग्राम गड़ा, जिला छतरपुर, मध्यप्रदेश भारत
मौजूदा निवास स्थानग्राम गड़ा, जिला छतरपुर मध्यप्रदेश
जातिपंडित, ब्राह्मण
राशिधनु राशि
धर्महिन्दू
राज्यमध्यप्रदेश
नागरिकताइंडियन
धीरेन्द्र शास्त्री द्वारा बोली जाने वाली भाषाएंबुन्देली, हिंदी, संस्कृत, अंग्रेजी
कार्य काल2003 से वर्तमान तक
शिक्षाग्रेजुएट (बी.ए.)

पंडित धीरेंद्र शास्त्री का परिवार

पितारामकृपाल गर्ग
मातासरोज गर्ग
बहनएक (नाम पता नहीं)
भाईभाई दो (नाम पता नहीं)
पत्नीअभी शादी नहीं हुई
दादा जीश्री भगवानदास गर्ग
प्रिय मित्रराजाराम, शेख मुबारक

बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर धीरेन्द्र शास्त्री के बारे में कुछ रोचक बातें

  • बागेश्वर धाम श्री धीरेन्द्र शास्त्री जी को लोग ज्यादातर बागेश्वर बालाजी महाराज जी के नाम से लोग जानते हैं।
  • धीरेन्द्र शास्त्री किसी भी इंसान के बारे में बिना जाने उनके बारे में सब कुछ बता सकते हैं।
  • लोगों द्वारा धीरेन्द्र शास्त्री को चमत्कारी बाबा भी माना जाता है।
  • धीरेन्द्र शास्त्री ने अभी तक अपनी शादी नहीं की है और वे 2022 के अनुसार 26 वर्ष के हो चुके हैं।
  • धीरेन्द्र शास्त्री बागेश्वर धाम सरकार में एक पुजारी व महाराज के रूप मे भगवतकथा, रामकथा, प्रवचन आदि सब सुनाते हैं जिसे सुनने के लिये लोग दूर दूर से आते हैं।
  • बागेश्वर धाम मे मंगलवार के दिन लगायी गयी अर्जी कभी भी असफल नहीं होती है. ये लोगों का मानना है।
  • धीरेन्द्र शास्त्री के ऊपर स्वयं बालाजी महाराज श्री हनुमान जी का हाथ है और धीरेन्द्र शास्त्री उनके बहुत बड़े भक्त है।
  • धीरेन्द्र शास्त्री भारत के पहले इतने युवा सन्यासी बाबा है जो अपने चमत्कार से लोगों की परेशानियां दूर कर देते हैं।

Bageshwar Dham Sarkar (FAQs)

प्रश्न – धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री के गुरु कौन है?

उत्तर – धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के गुरु स्वयं उनके दादा जी श्री भगवानदास गर्ग है उनके गुरु यानी की दादा जी चित्रकूट से सम्बन्ध था।

प्रश्न – पंडित बागेश्वर धाम महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री का जन्म कब और कहा हुआ था?

उत्तर – पंडित बागेश्वर धाम महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री का जन्म 04 जुलाई सन 1996 को मध्यप्रदेश राज्य के छत्तरपुर जिले के गडा गांव मे हुआ था।

प्रश्न – पंडित श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री जी कोन हैं?

उत्तर – पंडित श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री जी बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर और एक प्रसिद्ध कथावाचन एवं धर्म प्रचारक हैं।

प्रश्न – बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री की आयु कितनी है?

उत्तर – बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर श्री धीरेन्द्र कृष्ण कुमार शास्त्री की आयु 26 वर्ष है। (2022 के अनुसार)

प्रश्न – बागेश्वर धाम सरकार मे किसका मंदिर है?

उत्तर – बागेश्वर धाम सरकार मे बालाजी यानी भगवान श्री हनुमान जी का मन्दिर है, माना जाता है कि यहाँ पर हनुमान जी की कृपा है।

Conclusion

हमे आशा है कि हमारे द्वारा लिखा गया ये लेख आप सभी बहुत अच्छा लगा होगा जिसमे हमने बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham Sarkar) और वहां के पुजारी श्री धीरेन्द्र शास्त्री के जीवन परिचय से अवगत कराया है। हमे उम्मीद है की आप सभी श्रद्धालुओं को बागेश्वर धाम से जुड़ा ये लेख पसंद आया है और इसे पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा की सच मे बागेश्वर पीठधीश्वर पंडित श्री धीरेन्द्र शास्त्री कितने महान बाबा है।

इस आर्टिकल को पड़ने के बाद आपको पता लग गया होगा कि धीरेन्द्र कुमार शास्त्री ने इस मुकाम पर पहुंचने के लिये कितनी समस्याओ और गरीबी का सामना किया। वो कहते हैं ना जो दिल से भगवान को मानता है और उनकी प्राथना करता है एक दिन भगवान उनकी जरूर सुनता है।

पूज्य गुरुदेव के संकल्प

गौ रक्षा
BageshwarDham Sarkar

एक हिन्दू, एक गाय | जय बागेश्वर धाम

 
गरीब कन्याओं का विवाह
BageshwarDham Sarkar

कन्याओं को दान, महा कल्याण | जय बागेश्वर धाम

 
वैदिक गुरुकुल
BageshwarDham Sarkar

वेद विज्ञान से आत्मज्ञान | जय बागेश्वर धाम

अन्नपूर्णा रसोई
BageshwarDham Sarkar

निःशुल्क अन्नसेवा, नारायण सेवा | जय बागेश्वर धाम